Home हिन्दी दादी माँ के मुख से

दादी माँ के मुख से

एक बहेलिये ( पक्षियों को पकड़ने वाला ) ने एक बड़े से बरगद के वृक्ष के नीचे एक जाल बिछाया पक्षियों को पकड़ने के लिए , क्योंकि उस वृक्ष पर कबूतरों  का एक बड़ा परिवार रहता था | और...
वह थी तो ७० वर्ष की बुढ़िया, फिर भी अपनी जिद में वह सात साल के बच्चे की तरह थी |  उसके छोटे से मोहल्ले में बच्चे उसे बुढ़िया रानी पुकारते थे |  एक हाथ में लाठी  और दूसरे...
एक बार की बात है एक भूखा गीदड़ जंगल से निकलकर गाँव की ओर निकल आया | उसने सोचा, कि यहाँ भूख मिटाने के लिए खाना मिल जाएगा, क्योंकि जंगल में तो भूखे मरने की नौबत आ गई थी...
सोनू के पापा ने एक बहुत बड़ा बंगला बनवाया था, जो शहर की आबादी से जरा हटकर था |  यहाँ सोनू का परिवार खुश था, लेकिन सोनू बहुत परेशान था |  उसके परिवार के असपास उसका कोई दोस्त नहीं...
एक राजा था |  प्रजा उसे बहुत चाहती थी |  राजा भी प्रजा के सुख-दु:ख  का बहुत ख्याल रखता था |  हर  रोज़ वह घोड़े पर सवार होकर प्रजा का हाल-चाल लेने निकलता |  जहाँ जिसकी जो शिकायत होती,...
सिन्नी एक छोटा-सा मेमना था |  वह अपनी माँ सन्नो के साथ चंदन वन में रहता था |  वह हरे-भरे पौधों और झाड़ियों के पत्ते खाता |  नदी का ठंडा पानी पीता |  इस प्रकार वह दिन भर अपनी...
सैमुअल जैक्सन पक्का जहाजी था, परन्तु बहादुर और होशियार सैमुअल हमेशा परेशान रहता |  उसकी परेशानी का कारण था, उसकाअपना कद जो पूरा सात फुट और सात इंच था |  अपने लंबे कद के कारण, उसे अन्य लोगों के...
गोलू गीदड़ जंगल की सफाई करता था | एक दिन सफाई करने के बाद गोलू आराम कर रहा था | तभी एक दिन अचानक वह उछल गया | उसे ध्यान आया - 'आज नए साल का...
गौतम और शुभम दो दोस्त थे |  उन्हें स्कींइग करने का बड़ा शौक था |  जब भी मौका मिलता , वे स्कींइग करने पहुँच जाते |  एक दिन वे दोनों स्कींइग का आनंद ले रहे थे |  एक दूसरे...
बच्चे की जिद और तेनालीराम दादी माँ के मुख से एक बार  राजदरबार में किसी जरूरी मामले पर सोच-विचार होना था | ंपर तेनालीराम अभी तज नहीं पहुँचा था |  राजा कृष्णदेव राय गुस्सा थे |  तभी तेनालीराम ताजी से आता...

Latest news

MUST READ